We'd love to hear from you

basic gross net salary kya hai

विश्लेषण विधि तथा संश्लेषण विधि में आधारभूत विश्लेषण क्या है? आधारभूत विश्लेषण क्या है? आधारभूत विश्लेषण क्या है? अंतर For CTET, D.El.Ed & B.Ed

संश्लेषण विधि (Synthesis Method) एक शिक्षण विधि है इस विधि में ज्ञात से अज्ञात की ओर जाते हैं अर्थात पहले से ज्ञात तथ्य एवं सूत्रों की सहायता से नए तथ्यों या समस्या के हल करने की शिक्षण विधि को संश्लेषण विधि करते हैं इस विधि में समस्या के हल करने की विधि पहले से मालूम रहता है और ज्ञात विधि के आधार पर समस्या का हल निकालते हैं

विश्लेषण विधि(Analysis method) एक शिक्षण विधि है जिसमें किसी समस्या को पहले छोटे-छोटे भागों में विभाजित किया जाता है उसके बाद समस्या के बारे में अध्ययन किया जाता है फिर उसके निष्कर्ष पर पहुंचा जाता है इस प्रकार के शिक्षण विधि को विश्लेषण आधारभूत विश्लेषण क्या है? विधि कहते हैं

⇰ संश्लेषण विधि तथा विश्लेषण विधि में अंतर

विश्लेषण विधि संश्लेषण विधि
1.इस विधि में अज्ञात से ज्ञात की ओर जाते हैं 1.इस विधि में ज्ञात से अज्ञात की ओर जाते हैं
2.इस विधि द्वारा समस्या के निष्कर्ष तक पहुंचने में अधिक समय लगता है। 2.इस विधि द्वारा समस्या के निष्कर्ष तक पहुंचने में बहुत कम समय लगता है।
3.इस विधि का उपयोग प्राथमिक स्तर के कक्षा के लिए करना कठिन होता है। 3.इस विधि का उपयोग प्राथमिक स्तर के कक्षा के लिए उपयोगी होता है।
4.इस विधि से छात्रों में तर्क तथा निर्णय सक्ति का विकास होता है। 4.इस विधि से छात्रों में तर्क तथा निर्णय सक्ति का विकास नहीं हो पाता है।
5.संविश्लेषण विधि बालकों को खोज करने का अवसर प्रदान करता है। 5.संश्लेषण विधि बालकों को खोज करने का अवसर नहीं प्रदान करता है।
6.विश्लेषण विधि एक कठिन विधि होने के कारण इससे बालक में नीरसता की भावना उत्पन्न होती है। 6.संश्लेषण विधि सेबालक में नीरसता की भावना उत्पन्न नहीं आधारभूत विश्लेषण क्या है? होती है।

आधारभूत विश्लेषण क्या है?

अस्वीकरण :
इस वेबसाइट पर दी की गई जानकारी, प्रोडक्ट और सर्विसेज़ बिना किसी वारंटी या प्रतिनिधित्व, व्यक्त या निहित के "जैसा है" आधारभूत विश्लेषण क्या है? और "जैसा उपलब्ध है" के आधार पर दी जाती हैं। Khatabook ब्लॉग विशुद्ध रूप से वित्तीय प्रोडक्ट और सर्विसेज़ की शैक्षिक चर्चा के लिए हैं। Khatabook यह गारंटी नहीं देता है कि सर्विस आपकी आवश्यकताओं को पूरा करेगी, या यह निर्बाध, समय पर और सुरक्षित होगी, और यह कि त्रुटियां, यदि कोई हों, को ठीक किया जाएगा। यहां उपलब्ध सभी सामग्री और जानकारी केवल सामान्य सूचना उद्देश्यों के लिए है। कोई भी कानूनी, वित्तीय या व्यावसायिक निर्णय लेने के लिए जानकारी पर भरोसा करने से पहले किसी पेशेवर से सलाह लें। इस जानकारी का सख्ती से अपने जोखिम पर उपयोग करें। वेबसाइट पर मौजूद किसी भी गलत, गलत या अधूरी जानकारी के लिए Khatabook जिम्मेदार नहीं होगा। यह सुनिश्चित करने के हमारे प्रयासों के बावजूद कि इस वेबसाइट पर निहित जानकारी अद्यतन और मान्य है, Khatabook किसी भी उद्देश्य के लिए वेबसाइट की जानकारी, प्रोडक्ट, सर्विसेज़ या संबंधित ग्राफिक्स की पूर्णता, विश्वसनीयता, सटीकता, संगतता या उपलब्धता की गारंटी नहीं देता है।यदि वेबसाइट अस्थायी रूप से अनुपलब्ध है, तो Khatabook किसी भी तकनीकी समस्या या इसके नियंत्रण से परे क्षति और इस वेबसाइट तक आपके उपयोग या पहुंच के परिणामस्वरूप होने वाली किसी भी हानि या क्षति के लिए उत्तरदायी नहीं होगा।

UPSSSC PET EXAM 2022: क्या है PET और क्या हैं इसके फायदे, यहां से जानिए कंप्लीट डिटेल्स

UPSSSC

UPSSSC की परीक्षाओं में शामिल होने वाले इच्छुक अभ्यर्थियों के लिए उत्तर प्रदेश अधीनस्थ सेवा चयन आयोग ने प्रारंभिक पात्रता परीक्षा (PET) के आवेदन प्रक्रिया की शुरुआत कर दी है। इसके लिए उम्मीदवार आयोग की वेबसाइट पर जाकर आवेदन कर सकते हैं। UPSSSC ने इसके लिए 28 जून से आवेदन प्रक्रिया की शुरुआत की है जो 27 जुलाई 2022 तक जारी रहेगी। यूपी अधीनस्थ सेवा चयन आधारभूत विश्लेषण क्या है? आधारभूत विश्लेषण क्या है? आयोग की प्रारम्भिक अर्हता परीक्षा 18 सितंबर को होगी। इसके जरिए उत्तर प्रदेश सरकार के विभिन्न विभागों में खाली पड़े ग्रुप सी लेवल के हजारों पदों को भरा जाएगा। पीईटी स्कोर के आधार पर अलग-अलग भर्तियों में अभ्यर्थियों को मुख्य परीक्षा/स्किल टेस्ट/शारीरिक दक्षता परीक्षा के लिए बुलाया जाएगा। अगर आप इस परीक्षा की FREE तैयारी करना चाहते हैं तो आज ही UPSSSC PET Online LIVE क्लासेज: Join Now को ज्वाइन कर लें।

आखिर है क्या PET की परीक्षा

आपको बता दें कि उत्तर प्रदेश सबऑर्डिनेट सर्विस सिलेक्शन कमीशन ने PET यानी प्राइमरी एलिजिबिलिटी टेस्ट की शुरुआत की है जिसका उद्देश्य UPSSSC द्वारा आयोजित की जाने वाली भर्ती प्रक्रिया को आसान बनाना है। इस परीक्षा की खास यह है कि अब तक यूपीएसएसएससी में असफल होने वाले उम्मीदवारों को किसी दूसरे एग्जाम में आवेदन करने के लिए पूरा बायोडाटा देने की आवश्यकता पड़ती थी लेकिन अब इस नई प्रक्रिया के तहत PET आधारभूत विश्लेषण क्या है? में रजिस्ट्रेशन होने के बाद ऐसा नहीं करना होगा। इसके अलावा इस परीक्षा को पास करने वाले उम्मीदवारों को दिए जाने वाले प्रमाणपत्र की वैधता तीन वर्षों तक मान्य रहेगी।
ये भी पढ़ें
UPSSSC PET सिलेबस
UPSSSC PET एग्जाम डेट
UPSSSC PET एलिजिबिलिटी

UPSSSC PET प्रीवियस ईयर पेपर- डाउनलोड PDF

जानिए PET परीक्षा का पूरा सिलेबस

UPSSSC द्वारा आयोजित की जाने वाली PET परीक्षा में शामिल होने वाले अभ्यर्थियों को किन विषयों की तैयारी करनी है। यहां उसकी पूरी जानकारी दी गई है।

आखिर है क्या PET की परीक्षा

आपको बता दें कि उत्तर प्रदेश सबऑर्डिनेट सर्विस सिलेक्शन कमीशन ने PET यानी प्राइमरी एलिजिबिलिटी टेस्ट की शुरुआत की है जिसका उद्देश्य UPSSSC द्वारा आयोजित की जाने वाली भर्ती प्रक्रिया को आसान बनाना है। इस परीक्षा की खास यह है कि अब तक यूपीएसएसएससी में असफल होने वाले उम्मीदवारों को किसी दूसरे एग्जाम में आवेदन करने के लिए पूरा बायोडाटा देने की आवश्यकता पड़ती थी लेकिन अब इस नई प्रक्रिया के तहत PET में रजिस्ट्रेशन होने के बाद ऐसा नहीं करना होगा। इसके अलावा इस परीक्षा को पास करने वाले उम्मीदवारों को दिए जाने वाले प्रमाणपत्र की वैधता तीन वर्षों तक मान्य रहेगी।

जानिए PET परीक्षा का पूरा सिलेबस

UPSSSC द्वारा आयोजित की जाने वाली PET परीक्षा में शामिल होने वाले अभ्यर्थियों को किन विषयों की तैयारी करनी है। यहां उसकी पूरी जानकारी दी गई है।

बेसिक सैलरी यानी मूल वेतन क्या है? (What is Basic Salary)

आपकी असली आय मूल वेतन (Basic Salary) ही है। यह वह वेतन है जो किसी भी कर्मचारी को उसके योग्यता और काम के आधार पर कम्पनी द्वारा दिया जाता है। दूसरे शब्दों में बेसिक वेतन एक नियत राशि है जो किसी भी कम्पनी द्वारा कर्मचारियों द्वारा किये गए कार्य के लिए भुगतान किया जाता है। Basic Salary कम्पनी द्वारा दिए गए बोनस, लाभ या किसी भी अन्य मुआवजे में शामिल नहीं है।

मूल वेतन (Basic Salary) कम्पनी द्वारा दिए गए बोनस, लाभ या किसी भी अन्य मुआवजे में शामिल नहीं होता है। बेसिक वेतन सालाना इंक्रीमेंट देकर कई कंपनियों द्वारा बढ़ाया भी जाता है मगर ऐसा जरुरी नहीं है। कोई भी कम्पनी अपने एम्प्लाइज को पद के अनुरूप ही वेतन या बेसिक वेतन तय करती है। अब जैसा कि नाम से पता चलता है, Basic Salary (बेसिक वेतन) एक कर्मचारी का मूल वेतन ही है। विशेषज्ञों के अनुसार, मूल वेतन उद्योग के प्रकार के अनुसार अलग-अलग होता है। ऊपर के सैलरी स्लिप में एम्प्लोयी का बेसिक सैलरी यानी मूल वेतन 18,000 मासिक दिखाया गया है।

Basic Salary (मूल वेतन) की गणना कैसे करें?

अगर आप अपने सैलरी स्लिप (वेतन पर्ची) में देखेंगे तो आपको दो कॉलम मिलेंगे। एक Payment तो दूसरा Deduction. इसमें Payment का मतलब कम्पनी से जो राशि आपके लिए तय की गई है और Deduction का आधारभूत विश्लेषण क्या है? मतलब, आपके पेमेंट से की गई कटौती जैसे पीएफ, ईएसआई, टैक्स इत्यादि है।

सर्वश्रेष्ठ हिंदी कहानियां, लेख और प्रेरणादायक विचार के लिए विजिट करें - HindiChowk.Com

आपके वेतन के Payment ऑप्शन में मुख्य रूप से तीन मद होते हैं-

Related Posts:

1. मूल वेतन (Basic Pay)
2. ग्रेड वेतन (Grade Pay)
3. महंगाई भत्ता (D.A.)

मगर इसके आलावा वेतन में कुछ अतिरिक्त मद भी शामिल हो सकते हैं –

6. विकलांग भत्ता (Handicapped Allowance) ( निशक्त कर्मचारियों के लिए )
7. Etc. Basic Salary आपके Monthly CTC के लगभग 30-40% हो सकता है.

ऊपर जो उदहारण के लिए जो सैलरी स्लिप दिया है। उसमें Basic में ही DA (महंगाई भत्ता) जोड़ा हुआ है।

आपके वेतन से DA और HRA का फार्मूला –

Recent Doubts

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

रेटिंग: 4.55
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 494